Top 10 UPSC topper list in 2020 | सिविल सेवा परीक्षा टॉपर सूची 2020

Top 10 UPSC topper list in 2020 | सिविल सेवा परीक्षा टॉपर सूची 2020

भारत के दूसरे सबसे बड़े एग्जाम UPSC का रिजल्ट 24 सितंबर को घोषित हुआ जिसमे सिविल सर्विस की तैयारी करने वाले aspirants में 761 लोग सफल हुए। 761 उम्मीदवारों में 545 पुरुष वर्ग व 216 महिला वर्ग शामिल हैं। हर साल यह वेकेंसी आती है जिसमे लाखो कैंडिडेट एग्जाम में बैठते हैं लेकिन सफल कुछ ही मात्र होते है। 2020 के वेकेंसी में भी ऐसा ही हुआ कुछ चयन से बाहर हुए तो कुछ Top 10 स्थान में जगह बनाने में भी सफल रहे। इस आर्टिकल मे हम UPSC Exam में Top 10 UPSC topper in 2020 के बारे में जानेंगे।  

Top 10 IAS rank holder in UPSC Exam। About UPSC civil service  Exam Result 2020

10. Satyam Gandhi
बिहार के समस्तीपुर से ताल्लुक रखने वाले सत्यम गांधी ने UPSC सिविल सेवा परीक्षा में 10वी रैंक हासिल किए हैं। सत्यम 2019 में स्नातक राजनीतिक शास्त्र से पूरा किए। 2019 से ही सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी में लग गए थे। AIR 10 हासिल कर सत्यम काफी खुश हैं और बिहार में ही अपनी पोस्टिंग चाहते हैं जिससे अपने राज्य की विकास में योगदान दे सके। 
9. Apala Mishra
गाजियाबाद की रहने वाली डॉक्टर अपाला मिश्रा ने UPSC परीक्षा में 9वी रैंक हासिल कर अपने सपनों को पूरा किया है आपको बता दे डॉक्टर अपाला मिश्रा हजारी प्रसाद द्विवेदी की नातिन लगती है। इनकी माता दिल्ली यूनिवर्सिटी के हिंदी फैकेल्टी में प्रोफेसर हैं जबकि पिताजी आर्मी में कर्नल रहे हैं। 
Dr. Apala Mishra ने तीसरी बार में यह परीक्षा निकाल अपने सफलता का परचम लहराया है। 
8. Kartik Nagjibhai

पहले से ही गुजरात राज्य में IPS पद पर कार्यरत कार्तिक नागजीभाई ने यूपीएससी एग्जाम 2020 में 8वी रैंक हासिल कर फिर से गौरवांतित किया है। 2018 में यूपीएससी की परीक्षा में कार्तिक ने 94वी रैंक हासिल की थी और इन्हे आईपीएस के पद पर कार्यरत किया गया लेकिन इन्हे IAS की पद चाहिए थी जिस वजह से इन्होंने 2019 में फिर से यूपीएससी का एग्जाम दिया जिसमे इन्हे 84वी रैंक हासिल हुई। अब तीसरी बार में इन्होंने 8वी रैंक हासिल कर IAS की पद प्राप्त की है। 
7. Praveen kumar

बिहार राज्य के जमुई जिला निवासी प्रवीण कुमार ने यूपीएससी एग्जाम में 7वी रैंक हासिल की है। 2017 में प्रवीण ने IIT Kanpur से इंजीनियरिंग डिग्री प्राप्त की। साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाले प्रवीण ने कड़ी मेहनत की बदौलत यह सफलता हासिल कर परचम लहराया। प्रवीण के पिता मेडिकल स्टोर चलाते हैं और मां गृहणी हैं। प्रवीण ने शुरुवाती पढ़ाई गृह नगर से पूरी कर आईआईटी कानपुर से बीटेक की डिग्री हासिल करके job करने के बजाय सिविल सेवा में जाने की सोचा और दो बार मिली असफलता से हर ना मानते हुए तीसरी प्रयास में यह रैंक हासिल किया। 
6. Meera k

Kerala की रहने वाली मीरा के ने 12वी के बाद Government Engineering College Trissur से बीटेक किया। ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद Meera K ने सिविल सेवा में जाने का फैसला किया। तीन बार असफलता हाथ लगने के बाद भी इन्होंने हार नहीं मानी और संघर्ष जारी रखा जिस वजह से CSE Exam 2020 में इन्होंने छठी रैंक हासिल कर अपने आईएएस अफसर बनने का सपना पूरा किया। Meera K का कहना है की उन्होंने अपनी असफलता से हार नही मानी क्योंकि इससे पहले के तीन प्रयास में उन्होंने pre भी क्लीयर नहीं कर सकी थी। 
5. Mamta Yadav
 सिविल सेवा परीक्षा में पांचवी रैंक हासिल कर ममता यादव ने सिर्फ अपना या परिवार का बल्कि अपने गांव का भी नाम रोशन किया। दरअसल अपने गांव व इलाके में ममता यादव इकलौती आईएएस अफसर है। यह उपलब्धि हासिल करने के बाद लोग उन्हें अफसर दीदी के नाम से बुलाने लगे हैं। ममता यादव हरियाणा राज्य के महेंद्रगढ़ जिले में छोटा सा गांव बसई की निवासी हैं। 24 साल की ममता यादव ने इससे पहले भी यूपीएससी परीक्षा दी थी जिसमें उन्हें 556वी रैंक हासिल हुई थी और उन्हें भारतीय रेलवे कार्मिक सेवा में कार्यरत किया गया था। ममता यादव के पिता प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं और माता गृहणी हैं।
4. Yash Jaluka

झारखंड के छोटे से गांव के रहने वाले यश ने यूपीएससी परीक्षा में ऑल इंडिया रैंक 4 प्राप्त कर गौरव हासिल किया हैं।  धनबाद जिले के गांव झरिया के निवासी यश ने इस उपलब्धि से अपने गांव और जिला का नाम रोशन किया है। यश ने बीकॉम और उसके बाद कॉमर्स में पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की। सिविल सेवा की तैयारी इन्होंने बिना कोई कोचिंग सेल्फ स्टडी के बदौलत खुद की मेहनत से की और सफलता हासिल कर अपने सपने पूरे किए। 
3. Ankita Jain

अगर व्यक्ति कुछ बड़ा करने की ठान ले तो दुनिया की कोई भी ताकत उसको रोक नहीं सकती इस बात को अंकिता जैन ने यूपीएससी सिविल सेवा एग्जाम में तीसरी रैंक हासिल कर साबित की। इंजिनियरिंग की डिग्री हासिल करते ही इन्हे अच्छी पैकेज की नौकरी मिल गई लेकिन इन्होंने नौकरी छोड़ civil service की तैयारी शुरू की। अंकिता ने 2017 में यूपीएससी की तैयारी शुरू की। पहले प्रयास में उन्हें सफलता हासिल नहीं हुई लेकिन अंकिता ने तैयारी जारी रखी और दूसरे प्रयास में सफलता तो मिली लेकिन ज्यादा रैंक आने के वजह से आईएएस की पद नहीं मिली लेकिन हार ना मानते हुए चौथी बार में इन्होंने अपने सपने को साकार कर लिया। 
2. Jagriti Awasthi

भोपाल की रहने वाली जागृति अवस्थी ने इस प्रतिष्ठित और चुनौतीपूर्ण एग्जाम में दूसरी रैंक हासिल कर गौरवांतित किया। इन्होंने मौलाना आजाद राष्ट्रीय इंस्ट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से इलेक्ट्रिकल से डिग्री हासिल की। ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद गेट (GATE) की एग्जाम पास की और भेल में बतौर टेक्निकल ऑफिसर की नौकरी ज्वाइन की लेकिन फिर 2019 में नौकरी छोड़ यूपीएससी की तैयारी में लग गई। पहले ही प्रयास में इन्होंने यूपीएससी परीक्षा में दूसरी रैंक हासिल कर सफलता का परचम लहराया। 
1. Shubham Kumar
बिहार की धरती और मिट्टी से ताल्लुक रखने वाले शुभम कुमार कटिहार जिले के कुम्हरी गांव के निवासी हैं। 12वी पास करने के बाद शुभम ने इंजीनियरिंग करने की सोची और आईआईटी बॉम्बे से सिविल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन पूरा किया। ग्रेजुएशन के दौरान सुभम ने इंटर्नशिप किया। 2018 में ग्रेजुएशन पूरा होने के बाद शुभम ने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी जो बचपन से ही सपना था। पहली बार शुभम असफल रहे लेकिन दूसरी बार में इन्होंने 290वी रैंक हासिल की जिसके लिए इन्हे इंडियन डिफेंस अकाउंट सर्विस में ट्रेनिग के लिए भेजा गया। ट्रेनिंग के दौरान ही यूपीएससी 2020 का रिजल्ट आया जिसमे शुभम बाजी मारते हुए प्रथम ऑल इंडिया रैंक हासिल किए। यह उपलब्धि हासिल कर शुभम ने ना सिर्फ अपना या परिवार का बल्कि बिहार का भी नाम रोशन किया और गौरवांतित होने का मौका दिया। 
नोट :- UPSC के सिविल सेवा परीक्षा में Top 10 IAS Toppers के अलावा भी एक aspirant का नाम काफी चर्चा में रहा जो IAS Topper Tina Dabi की छोटी बहन रिया डाबी का है। Ria Dabi ने मात्र 24 की उम्र में 15वी रैंक  हासिल किया और एक बार फिर से डाबी परिवार को गौरवांतित किया। 2015 में यूपीएससी परीक्षा में पहली बार में ही टॉप करने वाली आईएएस टीना डाबी फिलहाल राजस्थान में वित्त विभाग में कार्यरत हैं। 
Frequently Asked Questions ( FAQ)

Q. 1 Civil service की शुरुवात कब हुई थी ?

Ans-सिविल सेवा की शुरुवात 1922 में हुई थी।
Q.2 UPSC एग्जाम में बैठने के लिए minimum qualification कितनी होनी चाहिए ?

Ans- इसमें बैठने के लिए कम से कम ग्रेजुएशन डिग्री होनी चाहिए। 
Q.3 इसमें सफल अभ्यर्थियों को ट्रेनिंग कहाँ दी जाती है ?

Ans- UPSC एग्जाम में सफल अभार्थियो को दो वर्ष की ट्रेनिंग LBSAA मसूरी उत्तराखंड में दी जाती है

Q. 4 UPSC सिविल सेवा में शुरुवात सैलरी कितनी होती है ?

Ans- इसमें 7th pay commission के अनुसार शुरुवात सैलरी 56100 रूपये होती है।

Q. 5 सबसे कम उम्र के IAS अधिकारी कौन हैं ?

Ans- सबसे कम उम्र के आईएस अधिकारी अंसार शेख हैं जिनकी उम्र 21 वर्ष है।

Spread the love

Related posts

Leave a Comment