Top 10 points about Black fungus / ब्लैक फंगस के बारे में 10 जानकारी

Black fungus

What is fungus/ फंगस क्या होता है, इसके प्रभाव से कैसे बचे

देश अभी कोरोना से लड़ रहा है तब तक एक नई मुसीबत आकर खड़ी हो गई जो की ब्लैक फंगस है। कोरोना महामारी के साथ अब देश इस बीमारी की वजह से एक और महामारी से जूझ रहा। corona की मरीजों में यह ज्यादातर पाया गया तो क्या है Black Fungus तथा इससे जुड़ी संपूर्ण जानकारी हम इस आर्टिकल में Top 10 points के माध्यम से जानेंगे।
1.Fungus :- इसको हिंदी में कवक या फफूद कहते हैं। यह सड़े- गले खाद्य पदार्थो पर पाया जाता है। खाद्य पदार्थो को कुछ दिन तक खुली हवा में छोड़ देने पर यह उस पर फैल जाता है तथा उस सड़े – गले पदार्थो से अपना भोजन बनाता है। इसके कई प्रकार हैं जिनमे अभी तक black, yellow और white fungus सामने आए हैं।
2.Black fungus :-  यह एक फंगल इन्फेक्शन है जो
इस समय corona के मरीजों में फैल रहा। यह आमतौर पर ज्यादा नमी वाले मिट्टी के संपर्क में रहने वाले इंसानों या जिनका immune system बहुत कमजोर है उनमें विकसित होता है। यह आमतौर पर गीली मिट्टी, जानवरो के गोबर, खाद या सड़े हुए फल और सब्जियों में पाया जाता है। 
3. Reason :-  इसके आने का मुख्य कारण corona    के मरीजों को लंबे समय तक गंदे ऑक्सीजन देने और स्टेरॉयड के ज्यादा यूज करने से इसका खतरा बढ़ा हैै। कैैंसर के मरीजों में भी इसकेेेे होने का खतरा हैै साथ ही डायबिटीज के मरीजों में भी खतरा का संकेेेत हैं। 
<Black fungus kya hai, complete information>
4. Hazard :-  यह आमतौर पर इंसान केे फेफड़ा, आंखो और दिमाग पर फैलता हैै। आंखो पर फैैलने केे बाद आंखों की रोशनी कम होने लगती है और ज्यादा फैलने पर आंखों की रोशनी जाने की भी संभावना बढ़ जाती है। यह आंखों और फेफड़ों पर फैलने के अलावा दिमाग पर भी फैलता है और दिमाग पर फैलने के बाद दिमाग धीरेे -धीरेे गलने लगता है।
5. Symptoms :-  इसके कई लक्षण देखे गए है जैसे 
आंखों में दर्द तथा आंखों की रोशनी कम होना, गले और जबड़े की हड्डी गलना, नाक पर पपड़ी जमना तथा नाक के किनारे कालापन होना, सांस लेने में दिक्कत होना और बुखार सर्दी आदि का रहना ये सब इसके लक्षण हैं। 


6. Prevents :-  इसकी रोकथाम जरूरी है इसलिए मरीजों को स्वच्छ और फ्रेश ऑक्सीजन इस्तेमाल के लिए लगाया जाए। पीने का पानी उबला हुआ और फिल्टर हो अच्छी तरह से साथ ही घरों में सड़े फल व सब्जियों को न रखे। घर के आस – पास गीली मिट्टी इक्कठा ना होने दे।

7. First case :-  सबसे पहला केस गुजरात में 15 वर्षीय बच्चे में पाया गया जो की corona  मरीज था। उसके बाद महाराष्ट्र में फिर धीरे – धीरे पुरे देश में फैल रहा। अभी तक ज्यादातर लोगो को उनके आंखो पर इसका प्रभाव देखा गया है। Corona के मरीजों में यह अधिकतर पाया जा रहा। 

< About fungus and their symptom>

8.White fungus :-  यह ब्लैक फंगस की तरह ही है जो immune system से कमजोर लोगो में फैलता है। यह ब्लैक फंगस की तरह ज्यादा खतरनाक नही है लेकिन इसको हल्के में भी नही लिया जा सकता। इसके लक्षण भी ब्लैक फंगस की तरह ही है। सबसे पहले इसके केस पटना में चार लोगो मे पाया गया। 

9.Yellow fungus :-  यह ब्लैक और व्हाइट फंगस से भी ज्यादा खतरनाक है जिसका पहला केस गाजियाबाद में मिला। इसके लक्षण कई देखे गए हैं जैसे आलस ज्यादा लगना, खाने की इच्छा ना होना और वजन तेजी से घटना आदि। 

10.Precaution:- corona के साथ हमे इस बीमारी से भी सावधानी बरतने की आवश्यकता है। इस बीमारी का लक्षण दिखने पर हमे तुरंत जांच करानी चाहिए। इस बीमारी  की जांच मांस का टुकड़े से किया जाता है जिसमे X-ray या CT Scan के द्वारा पता चलता हैै। 
Spread the love

Related posts

One Thought to “Top 10 points about Black fungus / ब्लैक फंगस के बारे में 10 जानकारी”

Leave a Comment