Top 10 indian motivational movies / भारतीय सिनेमा की 10 प्रेरणादायक फिल्मे

Top 10 indian motivational movies / भारतीय सिनेमा की 10 प्रेरणादायक फिल्मे 

Top 10 indian motivational movies / भारतीय सिनेमा की 10 प्रेरणादायक फिल्मे

फिल्मे हर इंसान को देखना पसंद होती है कुछ लोग फिल्मे मनोरंजन के लिए देखते है तो कुछ टाइम पास के लिए लेकिन फिल्मे देखने से हमे सीख भी मिलती है। कुछ फिल्मे ऐसी होती हैं जो हमे प्रेरणा देती है जिन्हे देख हमे पॉजिटिव ऊर्जा मिलती है। इस आर्टिकल में हम ऐसी ही Top 10 Indian motivational movies के बारे में जानेंगे जो हमे इंस्पायर करती है जिन्हे देख हमे अच्छी सीख मिलती है।

Best inspirational movies for students। ऐसी मूवीज जो हर स्टूडेंट्स को देखना चाहिए

10. Udaan (उड़ान)
कैद से निकलकर अपने सपनो के प्रति उड़ान भरने की कहानी है इस फिल्म में। इसमें पिता और बेटे के संबंध को अलग ही तरह से दर्शाया गया है जो पिता अपने बेटे के सपनो के खिलाफ होता है जबकि उसका सौतेला भाई उसका साथ देता है। लड़के का सपना होता है writer बनना जबकि उसका पिता चाहता है इंजीनियर बनना। अपने पिता की बातो को ना मानने पर वह मार भी खाता है ऐसे बहुत हालत आते है जब दोनो एकदूसरे के खिलाफ होते हैं और आखिर में वह लड़का अपने सपनो के लिए घर छोड़कर अपने सौतेले भाई के साथ भाग जाता है और स्वतंत्र होकर अपने सपने के प्रति उड़ान भरता है।
9. Iqbal ( इकबाल)

यह फिल्म ऐसे गरीब किसान के बेटे की कहानी है जो गूंगा और बहरा रहता है इसके बावजूद उसका क्रिकेट के प्रति जुनून कम नही होता। शारीरिक अयोग्य होने पर हर कोई उसको बोलता है उसका मजाक बनाता है लेकिन फिर भी वह हार नही मानता और क्रिकेटर बनने के प्रति उसका क्रेज कम नही होता। इस फिल्म में “Aashayein dil ki” गाना है जो सुनने पर पॉजिटिव ऊर्जा देती है।अगर आप यह फिल्म नहीं देखे है तो जरूर देखे।
8. Lagaan (लगान)

2001 में निर्देशक आशुतोष गोवारिकर द्वारा बनाई गई यह फिल्म ब्रिटिश सरकार द्वारा लिए जाने वाले टैक्स जिसे लगान कहते थे उसपर ही आधारित है। इस फिल्म में दिखाया गया है की कैसे अंग्रेजो द्वारा दिए गए चैलेंज को ग्रामवासी मिलकर पूरा करते हैं और जीत हासिल करते हैं। इस फिल्म में गांव वालो के जज्बा और एकता को दिखाया गया है जो क्रिकेट खेलते हैं और जीतते भी है और अंग्रेजो को जवाब भी देते हैं।
< Best Indian motivational movies>
7. Bhag Milkha Bhag 

2013 में राकेश ओमप्रकाश मेहरा द्वारा निर्देशित फिल्म भाग मिल्खा भाग में धावक मिल्खा सिंह की कहानी दिखाई गई है जो किसी प्रेरणा से कम नही है। अपने जीजा के द्वारा घर से निकाले जाने के बाद मिल्खा सिंह कड़ी मेहनत करते हैं, दिन रात एक करके वो आर्मी ज्वाइन करते हैं। उनका आर्मी ज्वाइन करने और एक सफल धावक बनने के संघर्ष को इस मूवी में दिखाया गया है। 
6. Manjhi:The mountain man

इस फिल्म को आप जितनी बार देखेंगे उतनी बार आपको प्रेरणा मिलेगी। यह फिल्म बिहार के एक ग्रामीण इंसान की कहानी पर निर्धारित है जिसका नाम दशरथ मांझी था। इसमें उस इंसान के जुनून और मेहनत को दिखाया गया है की कैसे वो पहाड़ को तोड़कर रास्ता बनाता है जो अपने आप में मिसाल बन गया। इस फिल्म को देख हमे यह सिख मिलती है की कुछ भी असंभव नही बस करने की हिम्मत और लगन होनी चाहिए।
इस फिल्म में एक प्रसिद्ध डायलॉग है ” जब तक तोड़ेंगे नही, तब तक छोड़ेंगे नहीं“.
5. Chak De India

इस फिल्म में एक व्यक्ति जिसका नाम कबीर खान जो भारतीय हॉकी टीम में रहता है उसकी कहानी है। भारत – पाकिस्तान मैच में उसके द्वारा गोल ना कर पाने की वजह से उसे देशद्रोही कहा जाता है और मुस्लिम होने की वजह से उसको बहुत सी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है लेकिन वह हार नही मानता है और बाद में भारतीय महिला हॉकी टीम का कोच बनकर गाइड करता है और टीम को विश्वकप में मदद करता है और अपने ऊपर लगे देशद्रोही शब्द को देशभक्ति में तब्दील करता है। 
इस फिल्म का मशहूर गाना है -” Chak De India
4. I am kalaam

इस फिल्म में राजस्थान के छोटे से गांव के लड़के छोटू की कहानी है जो गरीब होने के नाते अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते हुए बाहर एक होटल में काम करता है। एक दिन भारत के राष्ट्रपति Dr. A P J Abdul Kalam को टीवी पर देखता है और उसके मन में उनके जैसे बनने की इच्छा जागृत होती है और अपना नाम भी कलाम रख लेता है। अपनी मां के द्वारा मना करने पर की हमारी हैसियत नही उनके जैसा बनने की फिर भी वह एक नही सुनता और संघर्ष जारी रखता है। आगे की कहानी फिल्म देखने पर पता चलेगी आपको।
< Best Indian motivational movies>

3. Nil Battey Sannata


इस फिल्म में गरीब घर के मां – बेटी की कहानी दिखाई गई है जिसमें मां लोगो के घर जाकर काम करती है और चाहती है की उसकी बेटी पढ़े लिखे जिससे उसकी अपनी मां की तरह लोगो के घरों में काम न करना पड़े। बेटी पढ़ाई – लिखाई करती है लेकिन बार – बार अपने सपने से भटक जाती है और फिर सोचती है वो भी अपनी मां का सहयोग करे लेकिन उसकी मां हर बार उसको अपने सपने के प्रति जुनून पैदा करती है और सपने पूरा करने का हौसला देती है। इस फिल्म में मां – बेटी के संबंध को अच्छे से दर्शाया गया है।
2. Taare Zameen par

इस फिल्म में छोटे से सात साल के बच्चे ईशान अवस्थी के बारे में दिखाया गया है तथा माता – पिता को भी अपने बच्चो के साथ किस तरह का रवैया अपनाना चाहिए दिखाया गया है। इसमें ईशान के माता – पिता अपने बेटे पर उम्मीद से ज्यादा दबाव डालते है जिससे वह मानसिक रूप से कमजोर होता जाता है लेकिन अपने गुरु के द्वारा सहयोग से वह खुद को अच्छा महसूस कर पाता है। इस फिल्म में माता -पिता बच्चे और गुरु के बीच की जुगलबंदी दिखाई गई है।
1. 3idiots

चेतन भगत के उपन्यास पर आधारित यह फिल्म कामयाब होने से पहले काबिल होने पर जोर देती है क्योंकि काबिल होने पर कामयाबी अपने आप मिल जाती है। इस फिल्म में यह भी दिखाया गया है की हमे घरवालों या किसी दूसरे के दवाब में आकर अपने करियर को नही बल्कि अपने रुचि के अनुसार चुनना चाहिए। इस फिल्म में पढ़ाई कैसे करनी चाहिए एक स्टूडेंट को रटने के बजाय समझने पर जोर देना चाहिए यह भी दिखाया गया है। इस फिल्म से आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा और इंजीनियरिंग लाइफ को भी अच्छे से दिखाती है।

Top 10 indian motivational movies / भारतीय सिनेमा की 10 प्रेरणादायक फिल्मे


 इस आर्टिकल में आपने Top 10 best Indian motivational movies के बारे में जाना इन फिल्मों के अलावा आप कुछ और प्रेरणादायक फिल्मे देख सकते हैं जैसे Rang De Basanti, Zindagi na milegi dobara , super 30, slumdog millionaire etc. इन फिल्मों में से कौन कौन मूवी आपने देखी है कमेंट करके जरूर बताएं।

Spread the love

Related posts

Leave a Comment